Jatak Saravali Dasham Bhav By Mrudula Trivedi

जातक सारावली दशम भाव - मृदुला त्रिवेदी


जातक सारावली दशम भाव आकाशीय पिण्डों के अध्ययन एवं ज्योतिष शास्त्र के शोध सिद्धांतो से आलोकित व्यवसाय पक्ष का प्रज्वलित प्रकाश पुंज है।व्यवसाय और कर्म के अधिष्ठाता महाप्रभु की परमपावन पुनीत पदरज का मंगल तिलक है जातक सारावली दशम भाव।व्यवसाय अर्थात जीविकोपार्जन का माध्यम,समस्त मानव जाती की गति,मति,प्रगति,उन्नति की सम्यक् स्थिति का अभिन्न अभिनव अंग है।जातक सारावली दशम भाव का वैशिष्ट्य है,नवांश चक्र द्वारा उपयुक्त व्यवसाय को रेखांकित करना।