Gandhi Vadh Aur Mein By Gopal Godse

गांधी वध और मैं - गोपाल गोडसे


गांधीजी की हत्या के सह-आरोपी की मनस्थिति का चित्रण खुद उसकी अपने कलम से। गांधी वध और मैं राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे के भाई और इस षड़यंत्र में शामिल तथा उसके लिए कारावास भोगने वाले गोपाल गोडसे की कलम से उनका पक्ष प्रस्तुत करने वाली पुस्तक । यह नाथूराम गोडसे की जीवनी भी है,गोपाल गोडसे की आत्मकथा भी है और साथ ही उनके संस्मरण भी।

http://www.booksforyou.co.in/Books/Gandhi-Vadh-Aur-Mein