SAFALTA RAAH DIKHATI RAMAYAN - MORARI BAPU

सन्‌ 1960 से 2012- बावन वर्ष के इस अंतराल में 700 से भी अधिक रामकथाओं द्वारा मोरारी बापू ने विश्‍व के हर एक कोने में श्री राम के निर्मल नाम का दिव्यगान किया है। इस श्रंखला में युवावर्ग के लिए अत्यंत सरल भाषा में मोरारी बापू की रामकथाओं का दिव्यज्ञान प्रस्तुत है, जिससे आपको जीवन के हर क्षेत्र में सफलता प्राप्त करने की प्रेरणा मिलेगी।