Books For You

Grow outward, Grow inward

Network Market Mein Safalta Pane Ke Achuk Mantra by Surya Sinha

हमें भविष्य की उस दस्तक को सुनना होगा, जो नेटवर्क मार्केटिंग का आगाज कर रही है। बड़ी-बड़ी कम्पनियां अब अपने और अपने उपभोक्ता के बीच किसी प्रकार का व्यवधान नहीं चाहतीं। वे आज चाहती हैं कि उनसे जुड़कर जो लाभ स्टॉकिस्ट, एजेन्ट, डिस्ट्रीब्यूटर, होलसेलर और रिटेलर कमा रहे हैं, वह लाभ सीधे उपभोक्ता को मिले। विश्व की बहुत सी बड़ी-बड़ी कम्पनियों ने इस बात को समझा है और अपना व्यवसाय नेटवर्क मार्केटिंग के माध्यम से करना शुरू कर दिया है। प्रस्तुत पुस्तक ‘नेटवर्क मार्केटिंगः सवाल आपके जवाब सूर्या सिन्हा के’ में विश्वविख्यात मानव प्रशिक्षक, प्रेरक एवं नेटवर्क मार्केटिंग विशेषज्ञ सूर्या सिन्हा द्वारा पाठकों के सवालों के जवाब को गहन छानबीन के बाद लिखा गया है। नेटवर्क मार्केटिंग से जुड़ा कोई भी व्यक्ति इस पुस्तक को पढ़ कर अपने मन में उठ रहे सवालों के जवाब प्राप्त कर सकता है और उन सवालों के जवाबों के माध्यम से दिए गए दिशा-निर्देशों को अमल में लाकर आर्थिक सफलता की बुलन्दियों को छू सकता है, ऐसा हमारा विश्वास है।



नेटवर्क मार्केटिंग सवाल आपके जवाब सूर्या सिन्हा के

हमें भविष्य की उस दस्तक को सुनना होगा, जो नेटवर्क मार्केटिंग का आगाज कर रही है। बड़ी-बड़ी कम्पनियां अब अपने और अपने उपभोक्ता के बीच किसी प्रकार का व्यवधान नहीं चाहतीं। वे आज चाहती हैं कि उनसे जुड़कर जो लाभ स्टॉकिस्ट, एजेन्ट, डिस्ट्रीब्यूटर, होलसेलर और रिटेलर कमा रहे हैं, वह लाभ सीधे उपभोक्ता को मिले। विश्व की बहुत सी बड़ी-बड़ी कम्पनियों ने इस बात को समझा है और अपना व्यवसाय नेटवर्क मार्केटिंग के माध्यम से करना शुरू कर दिया है। प्रस्तुत पुस्तक ‘नेटवर्क मार्केटिंगः सवाल आपके जवाब सूर्या सिन्हा के’ में विश्वविख्यात मानव प्रशिक्षक, प्रेरक एवं नेटवर्क मार्केटिंग विशेषज्ञ सूर्या सिन्हा द्वारा पाठकों के सवालों के जवाब को गहन छानबीन के बाद लिखा गया है।

नेटवर्क मार्केटिंग से जुड़ा कोई भी व्यक्ति इस पुस्तक को पढ़ कर अपने मन में उठ रहे सवालों के जवाब प्राप्त कर सकता है और उन सवालों के जवाबों के माध्यम से दिए गए दिशा-निर्देशों को अमल में लाकर आर्थिक सफलता की बुलन्दियों को छू सकता है, ऐसा हमारा विश्वास है।



आप और आपका व्यवहार

दोस्तों! यदि आपको जीवन में सफलता चाहिए, खुशियां चाहिए, खुशहाली और सम्मान चाहिए तो आपको सबसे पहले अपने व्यवहार को गौर से परखना होगा। मानवीय, सामाजिक और व्यापारिक दृष्टि से व्यवहार संबंधी जो नियम हैं, उनके अनुसार खुद को ढालना होगा। मुझे पूरा भरोसा है कि यदि आप इस पुस्तक में बताए गए व्यावहारिक नियमों को अपने जीवन में स्थान देंगे तो वास्तव में आप वह सब कुछ सहज ही प्राप्त कर लेंगे, जिसकी आप वर्षों से इच्छा करते रहे हैं, चाहे आपकी वह इच्छा व्यापार या नौकरी में सपफलता, व्यापार का विस्तार, नौकरी में उन्नति, मित्रों एवं परिचितों में सम्मान और अपनापन, परिवार में प्यार, एकसूत्राता और खुशियों की ही क्यों न हो।

यह पुस्तक विशेष तौर पर व्यापार, स्वरोजगार, विक्रय अधिकारी, उद्यमी तथा नौकरीशुदा व्यक्ति के जीवन में क्रांतिकारी बदलाव लाकर उसके जीवनस्तर को पहले से कहीं ज्यादा उन्नत एवं बेहतर बनाने की क्षमता रखती है।



Tag cloud

Sign in