Books For You

Grow outward, Grow inward

Chokher Bali (Upanyas) By Rabindranath Tagore

 

चोखेर बाली - रविंद्रनाथ टैगोर

रविंद्रनाथ टैगोर का उपन्यास चोखेर बाली हिंदी में 'आँख की किरकिरी ' के नाम से प्रचलित है । प्रेम,वासना,दोस्ती और दांपत्य-जीवन की भावनाओ के भंवर में डूबता-उतराते चोखेर बाली के पात्रो - बिनोदिनी,आशालता ,महेन्द्र और बिहारी - की यह मार्मिक कहानी है ।



Kulvadhu (Hindi Edition) by Rabindranath Tagore

कुलवधू - रवीन्द्रनाथ टागोर


इस उपन्यास की कहानी एक क्रूर और दम्भी राजा के राजा की गाथा है । वह इतना क्रूर है की अपने बेटे ,जंवाई ,चाचा तक की हत्या का षड्यंत्र रचता है। अपनी हठधर्मिता के कारण वह अपनी बेटी विभा के जीवन के सारे सुख छीन लेता है। जनता में लोकप्रिय अपने बेटे को हुक़ुमतबदर कर देता है।



Pushpakunjno Mali (Gujarati Translation Of The Gardener)



Tag cloud

Sign in