Parinay Nirnay Mangali Yog Vividh Sanyog By Mrudula Trivedi

परिणय निर्णय मंगली योग:विविध संयोग - मृदुला त्रिवेदी


इस कृति को अग्रांकित 11 भिन्न-भिन्न अध्यायों में विभाजित एव व्याख्यायित कीया गया है -

1 मंगली योग : विविध संयोग

2 मंगली दोष पर सूर्य का प्रभाव:शोध संज्ञान

3 मंगली दोष पर चन्द्रमा का प्रभाव:शोध संज्ञान

4 मंगली दोष पर बुध का प्रभाव : शोध संज्ञान

5 मंगली दोष पर बृहस्पति का प्रभाव:शोध संज्ञान

6 मंगली दोष पर शुक्र का प्रभाव:शोध संज्ञान

7 मंगली दोष पर शनि का प्रभाव:शोध संज्ञान

8 मंगली दोष पर राहु का प्रभाव:शोध संज्ञान

9 मंगली दोष पर केतु का प्रभाव:शोध संज्ञान

10 महिलाओं हेतु अष्टम भावस्थ मंगल: अशुभ परिणाम

11 मंगली दोष से रक्षार्थ परिहार विधान।

श्रीमती मृदुला त्रिवेदी देश की प्रथम पंक्ति के ज्योतिषशास्त्र के अध्येताओं एवं शोधकर्ताओं में प्रशंसित एवं चर्चित है । उन्होंने ज्योतिष ज्ञान के असीम सागर के जटिल गर्भ में प्रतिष्ठित अनेक अनमोल रत्न अन्वेषित कर,उन्हें वर्तमान मानवीय संदर्भो के अनुरूप संस्कारित किया है ।