Khamoshi Ke Anchal Mein By Amrita Pritam

 

ख़ामोशी के आंचाल में - अमृता प्रीतम


बात उनकी है - जिन्होंने जिंदगी की कड़ी धुप में चलते हुए,अपने ही अक्षरो की छाया में बैठकर उस कड़ी धुप को झेल लिया । इस संकलन में कुछ ऐतिहासिक दस्तावेज़,कुछ ख़ामोशी के दस्तावेज़ ,और कुछ उनकी बात भी है जो इस काल में संघर्ष की एक लम्बी यात्रा पर चल दी है..