Books For You

Grow outward, Grow inward

Live Life King Size (Gujarati Translation of Stretch Yourself) by Vikrant Mahajan

Live લાઇફ King સાઈઝ - લેખક વિક્રાન્ત મહાજન

તમારી ક્ષમતાઓનો બેવડો ગુણાકાર એટલે



Koi Achcha Sa Ladka (Hindi Translation of A Suitable Boy) (Set of 3 Books) by Vikram Seth

कोई अच्छा सा लड़का

दुनिया-भर में चर्चित यह उपन्यास लता नामक एक लड़की से लिए उसकी माँ श्रीमती रूपा मेहरा द्वारा कोई अच्छा-सा लड़का ढूँढने की कोशिशों की अद्भुत कहानी है। साथ ही यह कहानी उस भारत की भी है, जो नया-नया स्वाधीन हुआ था और एक भयानक संकट-काल से जूझ रहा था। एक ऐसे काल से जब जमींदारों के भाग्य का सितारा डूब रहा था, संगीतकारों और दरबारियों को संरक्षण नहीं मिल रहा था, देहातों में अकाल के हालात पैदा होनेवाले थे, और जब पहले आम चुनाव से राजनीतिक ताकतों का ढाँचा बदलनेवाले था।

केंद्र मे चार बड़े और विस्तृत परिवार हैं : मेहरा परिवार (खासकर लता और उसकी माँ); कपूर परिवार (जिसमें एक शक्तिशाली स्थानीय नेता और उसका आकर्षक, किन्तु लम्पट पुत्र शामिल है। यह पुत्र अत्यंत मोहक गायिका सईदाबाई फ़िरोजाबादी के इश़्क में मुब्तिला होता है); चटर्जी परिवार (कलकत्ता उच्च न्यायालय के माननीय न्यायाधीश श्री चटर्जी से लेकर उनके कवि पुत्र और चंचल पुत्रियों तक), और ख़ान परिवार (वह नवाबी ख़ानदान, जिसे सम्पत्ति के हाथ से निकल जाने का ख़तरा है)।

महत्त्वाकांक्षा, हर्ष और शोक, पूर्वग्रह और सामंजस्य, संवेदनशील, सामाजिक आचरण और भयंकर साम्प्रदायिक हिंसा को वर्णित-व्याख्यायित करता हुआ यह उपन्यास किसी विशाल मेले-सरीखा है। संक्षेप में कहें तो यह एक ऐसी उत्कृष्ट और आधुनिक कथाकृति है, जो हमें उन्नीसवीं सदी में लिखे गए क्लासिकी उपन्यासों की याद दिलाती है, और अपने कथा समय की परीक्षा में निश्चय ही खरी उतरनेवाली है।

संस्करण के शीर्षक का सुझाव श्रीमती नसरीन मुन्नी कबीर ने दिया है। हम उनके शुक्रगुज़ार हैं।



How to Stop Worrying and Start Living (Punjabi Edition) by Dale Carnegi

How to Stop Worrying and Start Living is packed with good old-fashioned common sense, illustrated with examples drawn from research on historical figures and interviews with business leaders. Somehow, even the simplest advice is presented in a way that makes you want to write it down and post it on the employee bulletin.



Oscar Wilde Ki Lokpriya Kahaniya By Oscar Wilde

लेकिन युवा मछुआरे ने हँसकर कहा, ‘‘प्रेम ज्ञान से बेहतर होता है और छोटी मत्स्यकन्या मुझसे प्रेम करती है।’’
‘‘नहीं। ज्ञान से बढ़कर और कुछ नहीं होता।’’ आत्मा ने कहा।
‘‘प्रेम बेहतर है।’’ युवा मछुआरे ने जवाब दिया। वह वापस समुद्र की गहराई में कूद गया और उसकी पुरुषरूपधारी आत्मा रोती हुई दलदल की तरफ चली गई। जब दूसरा साल खत्म हुआ तो उसकी आत्मा एक बार फिर समुद्र तट पर आई। उसने फिर युवा मछुआरे को पुकारा तो वह गहराई से ऊपर आकर बोला, ‘‘तुमने मुझे क्यों बुलाया?’’
आत्मा ने जवाब दिया, ‘‘पास आओ, ताकि मैं तुमसे बात कर सकूँ। मैंने बहुत सी आश्‍चर्यजनक चीजें देखी हैं।’’
वह पास आकर उथले पानी में लेट गया। उसने अपना सिर अपने हाथ पर टिका लिया और सुनने लगा।
—इसी संग्रह से

विश्व प्रसिद्ध उपन्यासकार, कवि एवं कहानीकार ऑस्कर वाइल्ड एक संवेदनशील इनसान थे। उनकी कहानियों में मानव जीवन की गहरी अनुभूतियाँ हैं, आपसी रिश्तों के रहस्य हैं, पवित्र सौंदर्य की अलौकिक व्याख्या है तो मानव धड़कनों के तारतम्य को अद्भुत बतकही शैली में व्यक्त किया गया है। पठनीयता से भरपूर रोचक कहानियाँ।



Motivational Stories By Vivek Surani

Best Motivational stories written by Vivek Surani. one small positive story can change life of human being. Get out from the depression and motivate yourself and get sucess.

મોટીવેશનલ Stories લેખક વિવેક સુરાણી

એક નાનકડી વાર્તા જે માનવીના જીવનને જડમૂળથી બદલી શકે છે તે પ્રાર્થનાની ગરજ સારે છે .



America Ki Shresth Kahaniya (Best of American Stories) By Moses Michael

‘‘ठीक है, जैसा तुम कहो; लेकिन मुझे नहीं लगता कि तुम्हें बीमारी के मामले में कोई ज्यादा तजुरबा है और तुम्हारी मदद करके मुझे खुशी ही होती! जब तुम्हारे पति की ऐसी हालत होती है तो अमूमन तुम क्या करती हो?’’
‘‘मैं...मैं उन्हें सोने देती हूँ।’’
‘‘बहुत ज्यादा सोना भी सेहत के लिए बहुत अच्छा नहीं होता। तुम उन्हें कोई दवा नहीं देतीं?’’
‘‘ह...-हाँ।’’
‘‘तुम दवा के लिए उन्हें जगाती नहीं?’’
‘‘हाँ।’’
‘‘अगली खुराक वह कब लेते हैं?’’
‘‘अभी दो घंटे तक नहीं।’’
वह महिला निराश हो गई—‘‘देखो, अगर तुम्हारी जगह मैं होती तो मैं और जल्दी-जल्दी दवा देती। अपने घरवालों के साथ मैं यही करती हूँ।’’
—इसी पुस्तक से

अमेरिका का वैभव, उसकी शक्ति, उसका सामर्थ्य समस्त विश्व को अपनी ओर आकर्षित कर लेता है। परंतु चकाचौंध भरे अमेरिकी जनजीवन को करीब से देखें तो वहाँ भी सामाजिक-आर्थिक विषमताएँ हैं, जो संवेदनशील मन को झकझोर देती हैं। प्रस्तुत है ऐसी ही मर्मस्पर्शी कहानियों का संकलन। - See more at: http://www.booksforyou.co.in/Books/America-Ki-Shresth-Kahaniya-(Best-of-American-Stories)#sthash.Ja6CVctH.dpuf



Sapnana Sodagar (Shri Gambhirchand Umedchand Shah Vishwa Vidya Shreni) by Usha Bhal Malji

1.મોહમયી મુંબઈના  રચયિતા ગુજરાતી - Mohamayi Mumbaina rachayita Gujarati
2.રૂપજી ધનજી - Rupaji Dhanji
3.જીવરાજ બાલુ - jivraj Balu
4.ગોકુલદાસ તેજપાલ - Gokuldas Tejpal
5.કચ્છ - સૌરાષ્ટ્રના સોદાગરો - Kachh - saurashtrana saudagaro (મૂળજી જેઠા, ભાટિયા વલ્લભદાસ, શેઠ વસનજી ત્રિકમજી, ચંદારામજી, નરશી નાથા)
6.કરસનદાસ વલ્લભદાસ મૂળજી -  Karsandas Valabbhadas Mulji
7.નર્મદ- Narmad
8.મોબેદ ફરદુનજી મરઝ બાનજી - Mobed Fardunji Marz Banji
9.જમશેદજી જીજીભાઈ - Jamshedji jijibhai
10.માણેકજી નસરવાનજી પીટીટ - Manekji Nasarvanji Pitit
11.સર કાવસજી જહાંગીર - Sar kavasji Jahangir
12.પ્રેમચંદ રાયચંદ - Premchand Raychand
13.જમશેદજી નસરવાનજી ટાટા(જૅ.અને. ટાટા) - Jamshedji Nasarvanji Tata (J. N. Tata)
14.સર દોરાખજી ટાટા - Sir Dorabji Tata
15.નરોત્તમ મોરારજી - Narottam Morarji
16.સુમતિ મોરારજી - Sumti Mararji
17.ત્રિભુવનદાસ કલ્યાણદાસ ગજ્જર - Tribhuvandas Kalyandas Gajjar
18.દામોદરદાસ ઠાકરસી - પ્રેમલીલા ઠાકરસી - Hamodardas Thakarsi - Premlila Thakersi
19.મફતલાલ ગગલભાઈ - Mafatlal Gagalbhai
20.ચંદુલાલ નાણાવટી - મણિબહેન નાણાવટી
21.ગાંધીજી અને મણિભવન
22.કનૈયાલાલ માણેકલાલ મુનશી
23.દિનકરરાવ નરભેરામ દેસાઈ
24.ડૉ. હોમી ભાભા
25.માનવકલ્યાણ માટે અભિયાન
26.ડૉ. જમશે દજી ભાભા
27.મોહમયી નગરી મુંબઈ
28.સંદર્ભસૂચિ



Adhunik Asamanya Manovigyan (Modern Abnormal Psychology in Hindi) by Arun Kumar Sinh

आधुनिक असामान्य मनोविज्ञान - अरुण कुमार सिंह

‘आधुनिक असामान्य मनोविज्ञान’ एक ऐसी पुस्तक है जिसकी आवश्यकता न केवल छात्रों को बल्कि शिक्षकों को भी है। इसमें मानसिक रोगों तथा उनसे संबंधित नवीनतर सिद्धान्तों का उल्लेख सरल एवं सुगम भाषा में किया गया है। इतना ही नहीं प्रत्येक मानसिक रोग की व्याख्या एक नैदानिक केस (clinical case) के माध्यम से की गई है ताकि छात्रों को संबंधित मानसिक रोग के लक्ष्णों एवं कारणों को समझने में विशेष मदद मिले।

प्रस्तुत पुस्तक में 25 अध्याय हैं जिनमें कई महत्त्वपूर्ण विषयों जैसे नैदानिक वर्गीकरण एवं मूल्यांकन (clinical classification assessment), असामान्य व्यवहार के सामान्य सिद्धान्त एवं मॉडल, असामान्य व्यवहार के कारण, स्वप्न, चिंता, विकृति (Anxiety disorder), मनोविच्छेदी विकृति, मनोदैहिक विकृति, वयक्तित्व विकृति, द्रव्य-संबंद्ध विकृति, मनोदशा विकृति (Mood disorder), मनोविदालिता, (Schizophrenia), व्यामोही विकृति, (Delusional disorder), मानसिक मंदन, (Mental retardation), मनश्चिकित्सा (Psychotherapy), जैसे महत्त्वपूर्ण विषयों में सम्मिलित किया गया है। मानसिक रोगों का नैदानिक वर्गीकरण करने में DSM-IV  तथा ICD-10  के नियमों का पालन करते हुए उसे बोधगम्य भाषा में प्रस्तुत किया गया है। छात्रों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए असामान्य मनोविज्ञान की प्रमुख घटनाओं तथा कुछ महत्त्वपूर्ण वस्तुनिष्ठ प्रश्नों (objective questions) को भी इस पुस्तक में सम्मिलित किया गया है।

पुस्तक के लेखन में मुझे जिन पुस्तकों एवं जनरलों की सहायता लेनी पड़ी, उनके लेखकों एवं प्रकाशकों के प्रति मैं अपना आभार व्यक्त किए हुए नहीं रह सकता हूँ। पुस्तक के लिखने के दौरान समयाभाव के कारण परिवार के सदस्यों की थोड़ी उपेक्षा भी हुई है। आशा करता हूँ कि वे इसे गंभीरता से न लेंगे।

अन्त में मैं श्री कमला शंकर सिंह, जो प्रकाशक मोतीलाल बनारसीदास के पटना शाखा के उच्चतम पद अर्थात् मुख्य मैनेजर के पद पर आसीन हैं, के प्रति भी आभार व्यक्त करता हूँ जिन्होंने समय-समय पर अपनी मीठी वाणी एवं वाक्पटुता से मेरा हौंसला बुलंद रखा।



Tag cloud

Sign in