Books For You

Grow outward, Grow inward

SUCCESSFUL PARENTING GUJARATI EDITION BY PARIKSHIT JOBANPUTRA

Today in this modern era parents need to learn new Parenting Techniques to nurture their Children in the best possible way. Parikshit Jobanputra's Successful Parenting Group will help parents to Empower their children for the better future. Here parents will get new techniques to tackle new generation.



Kajal Oza Vaidyani Vartao

આ ટૂંકી વાર્તાઓનો બીજો સંગ્રહ છે. ત્રણ લઘુનવલિકા અને બીજી ટૂંકી વાર્તાઓ સાથે આ સંગ્રહમાં જુદા પ્રકારની ટૂંકી વાર્તાઓ પ્રકાશિત કરવામાં આવી છે. કાજલ ઓઝા -વૈદ્ય ના ચાહકો ને આ વાંચવામાં જરૂર રસ પડશે.



ऑपरेशन प्रधानमंत्री युवा किसे चुनें

राहुल गांधी को अपने सलाहकारों को उखाड़ फेंकना चाहिए, जानिए क्यों?
अरविंद की सोच शानदार है लेकिन इस चुनाव में ‘आप’ पार्टी को वोट देंगे तो देश गड्ढे में चला जाएगा, कैसे?
नरेन्द्र मोदी को तीखे प्रहार छोड़कर सिर्फ विज़न पर ‘बात करनी चाहिए’।
गुजरात के दंगों की बार-बार बात फैशन है या रणनीति, सच्चाई जानिए।

मैं किसी पार्टी का सदस्य नहीं हूं। मैं अरविंद की सोच और हिम्मत को पसंद करता हूं। मैं राहुल गांधी की साफगोई और नीयत का कायल हूं। नरेन्द्र मोदी जैसा विज़न और लीडरशिप वाला नेता आज कोई और नहीं है।
मै आखिर किसको वोट दूं?

40 वर्ष से कम उम्र के लोगों से रायशुमारी करके लिखी गई एक युवा कृति।



Nirmala (Gujarati Edition) by Munshi Premchand

અદ્‌ભુત કથાશિલ્પી પ્રેમચંદની કૃતિ ‘નિર્મલા’ દહેજ પ્રથાની પૃષ્ઠભૂમિમાં ભારતીય નારીની વિવશતાઓનું ચિત્ર કરવાવાળો એક સશક્તમ ઉપન્યાસ છે. આ ઉપન્યાસ નવેમ્બર ૧૯૨૫થી નવેમ્બર ૧૯૨૬ સુધી ધારાવાહિક રૂપમાં પ્રકાશિત થયો હતો, પરંતુ આ એટલો યથાર્થવાદી છે કે ૬૦ વર્ષો ઉપરાંત પણ સમાજની કલુષિતાઓનું આજે પણ એટલું જ સચોટ તેમજ માર્મિક ચિત્ર પ્રસ્તુત કરે છે.

‘નિર્મલા’ એક એવી અબળાની વાર્તા છે, જેણે પોતાના ભાવિ જીવનના સપનાઓને અલ્હડ કલ્પનાઓમાં એક્ઠા કર્યા, પરંતુ દુર્ભાગ્યથી એમને સાકાર ના થવા દીધા. નિર્મલાના લગ્ન પહેલાં એના પિતાનું મૃત્યુ થઈ જાય છે. આ મૃત્યુ છોકરાવાળઆઓને એ વિશ્વાસ અપાવી દે છે કે હવે એમને એટલું દહેજ નહીં મળે, જેટલાની એમને અપેક્ષા હતી. આખરે નિર્મલાના લગ્ન એક આધેડ અવસ્થાના વિધુરથી થાય છે.
આ ઉપન્યાસની એક અનન્ય વિશેષતા-કરુણા પ્રધાન ચિત્રણમાં કથાનક અન્ય રસોથી પણ તરબોળ છે.



हार्ट माफिया

यदि आप व आपके परिवार के सदस्यों में से कोई डायबिटीज, हाई बी पी, हाई कॉलेस्ट्रॉल, मोटापे या हृदय रोग का शिकार है........

जरा कल्पना करें कि एक सुबह उठने पर आपको पता चलता है कि अब आपको उन दवाओं की आवश्यकता नहीं रही, जो आप आज तक लेते आ रहे थे और आप बिल्कुल वैसे ही स्वस्थ हैं, जितने पिछले कुछ साल पहले थे.......

यह जानने के लिए पढ़ें ‘हार्ट माफिया’ . हार्ट माफिया में पाएं चौंका देने वाले तथ्यः

-हो सकता है कि आप रोग से नहीं, बल्कि उसकी चिकित्सा के कारण मारे जाएं।
-बाईपास सर्जरी तथा एंजियोप्लास्टी रोगियों के लिए नहीं बल्कि मुनाफे के लिए बने हैं।
-जानें कि कहीं आपके कार्डियोलॉजिस्ट ‘ऑक्यूलोस्टेनोटिक रिफ्रलैक्स सिंड्रोम’ से ग्रस्त तो नहीं हैं?
-जीवनशैली जनित रोगों से छुटकारा पाने के लिए नोबल पुरस्कार विजेता विज्ञान।
-डायबिटीज, हाई बी पी तथा हाई कॉलेस्ट्रॉल की हिस्ट्री व केमिस्ट्री।
-मोटापा- एक मानसिक रोग।"



आप और आपका व्यवहार

दोस्तों! यदि आपको जीवन में सफलता चाहिए, खुशियां चाहिए, खुशहाली और सम्मान चाहिए तो आपको सबसे पहले अपने व्यवहार को गौर से परखना होगा। मानवीय, सामाजिक और व्यापारिक दृष्टि से व्यवहार संबंधी जो नियम हैं, उनके अनुसार खुद को ढालना होगा। मुझे पूरा भरोसा है कि यदि आप इस पुस्तक में बताए गए व्यावहारिक नियमों को अपने जीवन में स्थान देंगे तो वास्तव में आप वह सब कुछ सहज ही प्राप्त कर लेंगे, जिसकी आप वर्षों से इच्छा करते रहे हैं, चाहे आपकी वह इच्छा व्यापार या नौकरी में सपफलता, व्यापार का विस्तार, नौकरी में उन्नति, मित्रों एवं परिचितों में सम्मान और अपनापन, परिवार में प्यार, एकसूत्राता और खुशियों की ही क्यों न हो।

यह पुस्तक विशेष तौर पर व्यापार, स्वरोजगार, विक्रय अधिकारी, उद्यमी तथा नौकरीशुदा व्यक्ति के जीवन में क्रांतिकारी बदलाव लाकर उसके जीवनस्तर को पहले से कहीं ज्यादा उन्नत एवं बेहतर बनाने की क्षमता रखती है।



MERI KAHANI (Hindi edition of Unbreakable by MC Mary Kom)

यह कहानी है भारतीय मुक्केबाज़ी के अखाड़े की साम्राज्ञी, पाँच विश्व प्रतियोगिताओं और एक ओलंपिक पदक की विजेता - एम.सी. मैरी कॉम की। पूर्वोत्तर भारत के मणिपुर राज्य में भूमिहीन किसान माता-पिता के यहाँ जन्मीं, मैरी कॉम की यह कहानी अथक संघर्ष और जोश को दर्शाती है तथा मुक्केबाज़ी की इस पुरुष-प्रधान दुनिया में असंभव रुकावटों का सामना करने - और जीतने की गाथा बताती है।



MAHAN AVISHKARAK MARCONI's BIOGRAPHY IN HINDI LANGUAGE

महान् आविष्कारक मार्कोनीमहान् आविष्कारक मार्कोनी का जन्म 25 अप्रैल, 1874 को ग्यूसेप, इटली में हुआ था। उन्हेंने बोलोग्ना, लोरेंस और लिवोमो में शिक्षा प्राप्‍त की। बचपन में उनकी शारीरिक और बिजली विज्ञान में गहरी दिलचस्पी थी। उन्होंने मैक्सवेल, हर्ट्ज, RIGHI, लॉज और अन्य वैज्ञानिकों के कार्य का अध्ययन किया।सन् 1896 में मार्कोनी ने वायरलेस टेलीग्राफी उपकरण बनाया और उसका लंदन में सफलतापूर्वक प्रदर्शन किया तथा जुलाई 1897 में वायरलेस टेलीग्राफ और सिग्नल कंपनी लिमिटेड (1900 में मार्कोनी के वायरलेस टेलीग्राफ कंपनी लिमिटेड फिर से नामित) का गठन किया।

1899 में उन्होंने इंग्लिश चैनल पर फ्रांस और इंग्लैंड के बीच बेतार संचार की स्थापना की।सन् 1914 में उन्हें एक लेफ्टिनेंट के रूप में इतालवी सेना में कमीशन मिला और 1916 में कमांडर की रैंक में नौसेना के लिए स्थानांतरित कर दिया गया। उनकी उत्कृष्‍ट युद्ध सेवा के लिए वर्ष 1919 में उन्हें ‘इतालवी सेना पदक’ तथा बाद में ‘ग्रैंड क्रॉस’ से सम्मानित किया गया। 20 जुलाई, 1937 को रोम में उनका निधन हो गया।उन्होंने विविध रूपों में मानवता की बड़ी सेवा की। प्रस्तुत पुस्तक में उनके जीवन-प्रसंगों के साथ-साथ उनके उपयोगी आविष्कारों के बारे में विस्तार से बताया गया है। विद्यार्थी व शिक्षार्थी ही नहीं, कुछ भी नया करने की इच्छा रखनेवाले विज्ञान-प्रेमी पाठकों के लिए एक उपयोगी पुस्तक।



Tag cloud

Sign in